एक अभिनेता होने के मायने…!

“एक अभिनेता होने के मायने” 
आपके आसपास किस तरह के,
किस चरित्र के व्यक्ति हैं?
किस तरह की परिस्थिति हैं?
उस परिस्थिति में आप कैसा व्यवहार करेंगे?
यह आपके चरित्र पर निर्भर करता हैं?
एक आम व्यक्ति इन बातों पर आमतौर पर गौर नहीं करता ! यदि आप एक योग्य अभिनेता या अभिनेत्री हैं, तो आपको पता होगा कि किसी आम या खास परिस्थिति में आपका व्यवहार कैसा होना चाहिए। यह एक अभिनेता के तौर पर आप बेहतर जान सकते हैं । यदि आप अपने अन्दर की भावात्मकता को बेहतर जान समझ पाएं है।
आईए इसे एक उदाहरण से समझते हैं। अपने अभिनय के विद्यार्थियों के लिए Film Show की क्लास में स्टूडेंट्स को फिल्मों के जरिए अभिनय की कुछ खास बातें बताते हुए… एक फिल्म में शेरलॉक होम नाम के जासूस चरित्र को लेकर फिल्म में अभिनेता के चरित्र की दो खास विशेषताओं ने विशेष तौर पर मुझे प्रभावित किया।
जो कि उस फिल्म के लेखक का विचार था, जिसे अभिनेता ने बहुत कुशलता से अभिव्यक्त किया।
वें खास विशेषताएं थीं…
# लगातार अपने काम पर ध्यान केंद्रित करना।
# अपने मित्र को सारी अच्छाई और बुराई के साथ स्वीकार करते हुए उसके गलत व्यवहार का रिएक्शन नहीं  देते हुए, स्वयं के अन्दर से अपने टार्गट को लेकर लगातार सोचते रहना।उपरोक्त विचारों को समझ कर, अपना कर आप अपने अपने दिमाग को रोजाना की कई सारी उलझनों से बचा कर, उसे बेहतर प्रोडक्टिव वर्क में लगा सकते हैं। एक अभिनेता होने से आप इसे आसानी से समझ और कर सकते है।यहां अभिनेता ने स्क्रिप्ट के विचारों को समझ कर सहज, सरल और सही तरीके से अपने अभिनय से अभिव्यक्ति दी।
एक अच्छा अभिनेता कैमरे के सामने, मंच पर और जीवन में भी व्यक्ति, परिस्थिति, स्थान और समय के अनुसार सही अभिव्यक्ति दे कर अपनी उपस्थिति दर्ज कर सकता हैं। यदि वह अभिनय में सही मायनों में प्रशिक्षित हैं।